नहीं रहे मशहूर शायर राहत इन्दोरी दिल का दौरा पडने से हुई मौत Rahat Indori

मशहूर शायर Rahat indori का देहांत कल रात को दिल का दौरा पडने से हो गया बताया जा रहा है की उनको करो पॉजिटिव भी पाया गया था| राहत इन्दोरी पुरे भारत वर्ष के सबसे लोकप्रिय कवी और लेखक थे उनकी सायरी के सभी दीवाने थे फिर चाहे वो जवान हो या फिर बुजुर्ग| हाल ही मैं सभी सोशल मीडिया पर ट्रेडिंग में चल रही शायरी “बुलाती है मगर जाने का नहीं” के लेखक भी ये ही थे| मशहूर शायर राहत इन्दोरी के देहांत पर भारत के सभी लोकप्रिय कवियों ने शोक जताया है|

कोरोना पॉजिटिव राहत इन्दोरी के देहांत की पूरी कहानी क्या है?

हाल ही मैं प्राप्त सूत्रों से पता चला है की मशहूर शायर राहत इन्दोरी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और उनको अस्पताल मैं तब भर्ती करवाया गया जब उनको दिल का दौरा पड़ा| मशहूर शायर राहत इन्दोरी ने खुद ही टिव्ट के जरिये अपने कोरोना पॉजिटिव होने की न्यूज़ लोगो तक पहुचायी थी| 10 अगस्त को देर रात उनको इंदौर के निजी अस्पताल मैं भर्ती करवाया गया था और साथ ही मैं उनका कोरोना टेस्ट भी इसी अस्पताल मैं करवा गया था|

Rahat Indori

मशहूर शायर राहत इन्दोरी की कुछ लोकप्रिय शायरिया:-

ज़ुबाँ तो खोल नज़र तो मिला जवाब तो दे मैं कितनी बार लूटा हूँ मुझे हिसाब तो दे।

लोग हर मोड़ पे रूक रूक के संभलते क्यूँ है इतना डरते है तो घर से निकलते क्यूँ है।

शाखों से टूट जाए वो पत्ते नहीं है हम आँधी से कोई कह दे के औकात में रहे।

vo bulati hai magar jane ka nahi rahat indori shayari ghazal 1 areal news

बुलाती है मगर जाने का नहीं
ये दुनिया है इधर जाने का नहीं

मेरे बेटे किसी से इश्क़ कर
मगर हद से गुज़र जाने का नहीं

ज़मीं भी सर पे रखनी हो तो रखो
चले हो तो ठहर जाने का नहीं

सितारे नोच कर ले जाऊंगा
मैं खाली हाथ घर जाने का नहीं

वबा फैली हुई है हर तरफ
अभी माहौल मर जाने का नहीं

वो गर्दन नापता है नाप ले
मगर जालिम से डर जाने का नहीं

Read More:-

x