[Daily Routine]दिनचर्या ऊबाऊ हो गयी है[घबराये नहीं, एकाग्रता बिगड़ सकती है आपकी मनोदशा ;ये बाते होंगी कारगर]

Daily Routine:- नयी दिल्ली सीमा पर इन दिनों चौतरफा दबाव है इसमें दिनचर्या का उलट पुलट होना स्वाभाविक है ख़राब दिनचर्या का सीधा असर आपके मन पर पड़ता है घबराहट हो सकती है मन बिगड़ सकता है एकाग्रता ख़राब हो सकती है आपकी मनोदशा अस्थिर हो सकती है जिससे आपका किसी काम में मन नहीं लगेगा ।

दिनचर्या

  • ऐसे में क्या करे-

  • सबसे पहले जागने और सोने का समय निश्चित करे क्यूंकि नींद आपकी दिनचर्या को ख़राब कर सकती है।
  • ऐसे काम जरूर करे जो आपको थकान के समय तरोताजा रखे जैसे कोई लेख लिखकर गीत गाकर।
  • आपकी रोजाना की दिनचर्या पहले से ही तैय्यार करके रखे ।
  • कोई भी छोटा छोटा काम पूरा होने पर खुद को अच्छा महसूस करे।
  • अपने लिए दिनचर्या बनाते समय खुद के साथ नरमी से पेश आये।
  • प्रोफेसर जेनिफर मार्टिन ने कहा हमारा din तब सुरु होता है जब हम जागते है और ख़त्म हमारे सोने से होता है इसलिए जेनिफर उठने के लिए समय तय करने की सलाह देती है जो आपको सूट करे नयी दिनचर्या को एक सप्ताह तक बनाकर रखना चाहिये ताकि आपका शरीर नयी दिनचर्या के हिसाब से ढल जाये । कोशिश करे की आप रोजाना एक ही समय पर सोने के लिए जाये।
    दिनचर्या बनाने के बाद ये देखे की आप उसके मुताबिक काम कर रहे है या नहीं यह जानना आपके लिए बहुत जरुरी है
x